ऐसी चीज़ सुनाए की

हिंदी फ़िल्में > अधिकार के गाने > ऐसी चीज़ सुनाए की

गाना: ऐसी चीज़ सुनाए की
फिल्म: अधिकार
गायक: मोहम्मद रफ़ी
गीत:
संगीत:


ऐसी चीज़ सुनाए की महफ़िल दे टाली पे टाली
वर्ना अपना नाम नहीं बन्ने खान भोपाली 
मुन्ने मिया बधाई बनो खुश होनहार 
दोनो जहाँ की खुशिया हो आप पे निसार 
बचपन हो खुशगवार जवानी सदाबहार 
अल्लाह करे यह दिन आये हजार बार 

जीना तोह है उसी का जिसने यह राज़ जाना 
है काम आदमी का औरो के काम आना 

किसी ने कहा तू है तारो का राजा
किसी ने दुवा दी किसी ने दी बधाई 
सबकी आँखों का तू तारा बने 
तेरी ही रोशनी में चमके तेरा घराना 

दिल लगाकर तू पढ़ना हमेशा आगे बढ़ाना 
सच का दमन ना छूटे चाहे यह दुनिया रूठे 
काम तू अच्छा करना सिर्फ अल्लाह से डरना 
सभी को गले लगा कर मुहब्बत में लुट जाना 

मोहब्बत वोह खजाना है कभी जो काम नहीं होता 
है जिसके पास दौलत उसे कुछ ग़म नहीं होता 
तेरा मेरा करके जो मरते उनको यह समझाना 

सूरत पे माशा अल्लाह वोह बात है अभी से 
तड़पेंगे दिल हजारो गुजरोगे जिस गली से 
डोली में जब बिठाकर लोगे फुलझड़ी को 
जिन्दा रहे तोह हम भी देखेंगे उस घडी को 
अगर अल्लाह ने चाह तोह हम उस दिल भी आएंगे 
बधाई हमने गाई है तोह हम सेहरा भी गायेंगे 
चाँद -सूरज भी आएंगे निचे दूल्हा-दुल्हन के पीछे 
है काम आदमी का औरो के काम आना