काली तेरी चोटी है

हिंदी फ़िल्में > बहार आने तक के गाने > काली तेरी चोटी है

गाना: काली तेरी चोटी है
फिल्म: बहार आने तक
गायक: अनुराधा पौडवाल, मंगल सिंह
गीत: अनजान
संगीत: राजेश रोशन


काली तेरी चोटी है, परांदा तेरा लाल नि
रूप की ओ रानी तू परांदे को संभालनी
किसी मनचले का तुझपे आ गया जो दिल, होगी बड़ी मुश्किल
काली तेरी चोटी है.........

मैंने भी मुश्किलों से खेलना है सिखा
मेरी भी तमन्ना मुझपे आये दिल किसी का
आशिक का परांदे नाल बांध लुंगी दिल, होगी कैसे मुश्किल
काली तेरी चोटी है.........

दावते देती है तेरे गालो की यह लाली, बन बैठा मेरा दिल तेरा ही सावली
फूल नहीं गल दमकते हैं शोले, धोने धोने ही बड़े दिल के हैं भोले
ओ शोलो से लिपट के पतंगे झूमते हैं, जल जाये चाहे शमा को चुमते हैं
किसी सिरफिरे का तुझ पे आ गया जो दिल होगी बड़ी मुश्किल

मर मिटने की तुने बट कैसे सोची, ना तू मेरा माहि ना तू मेरा पडोसी
कोई जो मलाई सी कलाई थाम लेगा, क्या होते हैं माहि तुझे पता तब चलेगा
जयुंगी तभी जब माहि डोला लायेगा, तेरे जैसा हाथ मलता ही राह जायेगा
सजाना के साथ मै तोह जयुंगी निकल होगी कैसे मुश्किल