जगत मुसाफिर खाना

हिंदी फ़िल्में > बालिका बधू के गाने > जगत मुसाफिर खाना

गाना: जगत मुसाफिर खाना
फिल्म: बालिका बधू
गायक: आर डी बर्मन
गीत:
संगीत:


जगत मुसाफिर खाना, लगा है आना जाना 

चाँद छुपे तो सूरज निकले, सूरज डूबे हो जाए शाम 
रुत आये रुत जाए मौसम, आने जाने का है नाम 
हो जोगी, किसका ठौर ठिकाना, ... 

देखे पहुंचे कौन कहाँ पर, राही निकला गाता हँसता 
सबकी अपनी-अपनी मंजिल, अपना-अपना रास्ता 
ओ जोगी, जीवन पथ अनजाना, ... 

चार दिनों का मेल है भैया, जिसने सारे खेल रचाए 
माँ बच्चों से मिलाने आये, फिर वापस घर जाए 
ओ जोगी, ये दसतूर पुराना, ...