बेमौसम बहार के दिन कैसे आये

हिंदी फ़िल्में > बंडलबाज़ के गाने > बेमौसम बहार के दिन कैसे आये

गाना: बेमौसम बहार के दिन कैसे आये
फिल्म: बंडलबाज़
गायक: किशोर कुमार, लता मंगेशकर
गीत: मजरूह सुल्तानपुरी
संगीत: एस डी बर्मन


हम्म.... (बेमौसम बहार के दिन कैसे आये - २)
इन् बहाओ में प्यार के तुम कैसे आये
चलो रे निकल जाये कही, निकलते मचल जाये कही रे
बेमौसम बहार के दिन कैसे आये
इन् बहाओ में प्यार के तुम कैसे आये

(यह तेरी दो आँखे इनमे मेरे प्यार
मिल जाये तो लहरो को भी आ जाये इकरार) - (२)
तोह आजा के मिल जाये गले, खुले आसमानों के तले री
बेमौसम बहार के दिन कैसे आये
इन् बहाओ में प्यार के तुम कैसे आये
(जब से तू है दिलबर मुझसे मेहेरुबन
तेरे दम से जन्नत है मेरे दोनों जहा) - (२)
जहाँ भी गए हम ए सनम....  ओ
बहारो ने चूमे ए कदम... है
हम्म....बेमौसम बहार के दिन कैसे आये
इन् बहाओ में प्यार के तुम कैसे आये
ओ ओ ओ ओ ओ.........

(रंगीन है तेरा चेहरा ऐसा क्या किया
बर्फीले तूफान में जैसे फूलो का दिया) - (२)
तोह आजा बहक जाये जरा, नशे में महक जाये जरा
बेमौसम बहार के दिन कैसे आये
इन् बहाओ में प्यार के तुम कैसे आये
चलो रे निकल जाये कही, निकलते मचल जाये कही रे
हम्म...... ओ ओ ओ ओ ओ......