गधो पर बैठ कर हम शहर के चक्कर लगायेंगे

हिंदी फ़िल्में > अलीबाबा और चालीस चोर के गाने > गधो पर बैठ कर हम शहर के चक्कर लगायेंगे

गाना: गधो पर बैठ कर हम शहर के चक्कर लगायेंगे
फिल्म: अलीबाबा और चालीस चोर
गायक: मोहम्मद रफ़ी, शमशाद बेगम
गीत: रजा मेहदी अली खान
संगीत: एस. एन. त्रिपाठी , चित्रगुप्त


गधो पर बैठ कर हम शहर के चक्कर लगायेंगे 
हो है इसी काबिल 
हमें तुमसे मुहब्बत है यह दुनिया को बताएँगे 
कुर्बान जाऊ तुम्हारे बताने पे 
देखो देखो हुजुर यह हैं खट्टे अंगूर 
अजी छोडो यह हाथ नहीं आएंगे 
ओ मेरी जन्नत की हूर तू है अरबी खजूर 
तेरे साये में जिन्दगी बिताएंगे 
देखो देखो हजूर .......

अच्छा लगे है मुझे ओ मेरी बुलबुल गाना तेरा चहचहाना तेरा 
अच्छा लगे ना मुझे ओ पीछे पीछे, (आना तेरा खिलखिलाना तेरा -2)
तेरी ऑंखें बिल्लुर मीठे मीठे अंगूर, इन्हें शरबत बना के पी जायेंगे 
देखो देखो हुजुर .......

भुला नहीं है मुझे नजरें झुका कर, (आना तेरा मुस्कुराना तेरा -2)
मुझको भी याद है पहला तमाचा, (खाना तेरा भाग जाना तेरा -2)
जो करेगी कबूल हम बन के लंगूर, तेरे कूचे में उधम मचाएंगे 
देखो देखो हुजुर .......