रेखा की आँखों को देखा

हिंदी फ़िल्में > बंदिश के गाने > रेखा की आँखों को देखा

गाना: रेखा की आँखों को देखा
फिल्म: बंदिश
गायक: उदित नारायण, जोल्ली मुख़र्जी
गीत:
संगीत:


रूम झूम तुम झूम, ता ना ना ना तुम तुम..........
टिक टिक टिक टिक..........
रेखा की आँखों को देखा, देखि श्रीदेवी की चाल
मस्ती मीनाक्षी की देखि, देखे रवीना के गल
मुस्कान देखि है माधुरी की, देखे हैं डिम्पल के बाल
ना मिली कही वोह हेरोइने जो इस हीरो को भा जाये
लाओ कोई परी कही से जिसपे इसका दिल आ जाये, ना मिली कही वोह

काली काली लट घुंघराली आँखे तिरछी तिरछी
तीखी तीखी लगती है यह कोल्हापुर की मिरची
कहदे पोरे से आइ लाजवाब पोरी, यह है चंदा तोह यह है चकोरी
कही होगी नहीं ऐसी जोड़ी आके जल्दी से बांध ले प्रीत डोरी, कहदे पोरे से

सबके सब नादाँ हो तुम इतनी भी पहचान नहीं
जो बिक जाये बाजारों में औरत वोह सामान नहीं
शादी है जन्मो का बंधन इक दो दिन का मेल नहीं
जब जी चाहे इससे खेले औरत कोई खेल नहीं

आई है किस दुनिया से लगती है हर के जैसी
सच कहता हु धरती पर होगी ना लड़की ऐसी
क्या आँखे हैं क्या मुखड़ा है, कमसिन है चाँद का टुकड़ा है
लुटी हैं मेरी नींदे, इसने मेरा चैन चुराया है
हा यही तोह है वोह हेरोइन जिसपे मेरा दिल आया है