खोया खोया चाँद खुला आसमान

हिंदी फ़िल्में > काला बाज़ार के गाने > खोया खोया चाँद खुला आसमान

गाना: खोया खोया चाँद खुला आसमान
फिल्म: काला बाज़ार
गायक: मोहम्मद रफ़ी
गीत: शैलेन्द्र
संगीत: एस डी बर्मन


ओ हो हो हो .... खोया खोया चाँद खुला आसमान 
आँखों मी सारी रात जायेगी, तुमको भी कैसे नींद आयेगी 
ओह ओह .... खोया खोया चाँद खुला आसमान 
आँखों मी सारी रात जायेगी, तुमको भी कैसे नींद आयेगी 

ओह ओह ....... खोया खोया चाँद 

मस्ती भरी हवा जो चली -२, खिल खिल गयी येह दिल की कली 
मण की गली मी है खलबली, के उनको तोह बुलाओ 
ओ हो हो ........ खोया खोया चाँद खुला आसमान 

आँखों मी सारी रात जायेगी, तुमको भी कैसे नींद आयेगी 
ओह ओह .... खोया खोया चाँद 

तारे चले, नज़ारे चले -२, संग संग मेरे वोह सरे चले 
चारो तरफ इशारे चले, किसी के तोह हो जाओ 

ओह हो हो .... खोया खोया चाँद खुला आसमान 
आँखों मी सारी रात जायेगी, तुमको भी कैसे नींद आयेगी 
ओह ओह .... खोया खोया चाँद ओह ओह ओह ओह ओह ओह .... 

ऐसी ही रात, भीगी सी रात -२, हाथो मी हाथ होते वोह साथ 

कह लेते उनसे दिल की येह बात अब्ब तोह ना सताओ 
ओह हो हो .... खोया खोया चाँद खुला आसमान 
आँखों मी सारी रात जायेगी, तुमको भी कैसे नींद आयेगी 
ओह ओह .... खोया खोया चाँद 

हम मिट चले जिनके लिए, हम मिट चले है जिनके लिए 

बिन कुछ कहे वोह चुप चुप रहे 
कोई जरा येह उनसे कहे, ना ऐसे आजमाओ 
ओह हो हो ..... खोया खोया चाँद, खुला आसमान 
आँखों मी सारी रात जायेगी, तुमको भी कैसे नींद आयेगी 
ओह ओह ..... खोया खोया चाँद, खोया खोया चाँद .