रूठे रूठे साहब मेरे

हिंदी फ़िल्में > मुस्कुराके देख ज़रा के गाने > रूठे रूठे साहब मेरे

गाना: रूठे रूठे साहब मेरे
फिल्म: मुस्कुराके देख ज़रा
गायक: सुनिधि चौहान
गीत: मेहबूब
संगीत: रंजित बारोट


रूठे रूठे साहब मेरे 
गुस्से पे है कुर्बान हम तेरे 
रूठे रूठे साहब मेरे, गुस्से पे है कुर्बान हम तेरे 
सुन ले रहबर मेरे 
(तुमने ही इश्क से मिलवाया, हमें सबक प्यार का पढवाया 
और आँख हामी से हो फेरे ) - (२ )
रूठे रूठे साहब मेरे 

सात रंग खाब है खाब में आप है ए मेरे हमनवा 
है महल दिल मेरा हुक्म है आप का मेरे हमनवा 
कदमों में तेरे अब्ब हम ठहरे - (२ )
है तेरी मोहब्बत के पहरे 
सुन ले रहबर मेरे ओ ओ ओ ....
तुमने ही इश्क से मिलवाया, हमें सबक प्यार का पढवाया 
और आँख हामी से हो फेरे 
रूठे रूठे साहब मेरे 

फूल है हार है ओस है आग है, संग है इश्क के 
घूम भी है है ख़ुशी अश्क है और हसीं रंग है इश्क के 
हर रंग में संग है हम तेरे - (२ )
चल साथ साथ लेंगे फेरे, सुन ले रहबर मेरे ओ ओ ओ ....
तुमने ही इश्क से मिलवाया, हमें सबक प्यार का पढवाया 
और आँख हामी से हो फेरे 
रूठे रूठे साहब मेरे