ए दोस्त हसके जरा सबसे मिल

हिंदी फ़िल्में > मुस्कुराके देख ज़रा के गाने > ए दोस्त हसके जरा सबसे मिल

गाना: ए दोस्त हसके जरा सबसे मिल
फिल्म: मुस्कुराके देख ज़रा
गायक: रंजित बारोट
गीत: मेहबूब
संगीत: रंजित बारोट


ए दोस्त हसके जरा सबसे मिल 
तूफ़ान hi मिले या साहिल, खफा होने से क्या हासिल 
हसके तू मिल, येह दुनिय अ का खेला, है हार जीत का मेला 
तू हर हाल में गाते जाना हो ...
ए दोस्त हसके जरा सबसे मिल, हसके तू मिल 

नौकर से ?? चलेंगे फिर क्या 
अंजाम सोचे बढ़ेंगे फी र क्या 
घूम से जो सहमें हसेंगे फिर क्या 
जाने क्या डर हो जियेंगे फिर क्या 
येह दुनिया है पानी, पर जीना है फिर भी जानी 
तू हर हाल में गाते जाना हो ...
ए दोस्त हसके जरा सबसे मिल, हसके तू मिल 

येह जिंदगी है हसीं रहगुजर 
घूम और ख़ुशी राह में दो शहर 
दोनों में कुछ पल तोह ठहरेगा तू 
बेहतर है घूम से भी हसके गुजर 
है पौलाद कभी बाशा, येह अजब अजब तमाशा 
तू हर हाल में गाते जाना हो ...
ए दोस्त हसके जरा सबसे मिल, हसके तू मिल 

नाकामी को तू हैरान कर, मायूसियों को परेशान कर 
हिम्मत की अपनी ही ले इम्तिहान 
कुछ पल अँधेरा हो बिलकुल ना डर 
हो रोशन येह चेहरा बस खिला खिला सा यारा 
तू हर हाल में गाते जाना हो ...
ए दोस्त हसके जरा सबसे मिल 
तूफ़ान ही मिले या साहिल, खफा होने से क्या हासिल 
हसके तू मिल, येह दुनिया का खेला, है हार जीत का मेला 
तू हर हाल में गाते जाना ओ ...
ए दोस्त हसके जरा सबसे मिल, हसके तू मिल