होक मजबूर मुझे उसने भुलाया होगा

हिंदी फ़िल्में > हकीकत के गाने > होक मजबूर मुझे उसने भुलाया होगा

गाना: होक मजबूर मुझे उसने भुलाया होगा
फिल्म: हकीकत
गायक: भूपिंदर , मोहम्मद रफ़ी , तलत , मन्ना डे
गीत: कैफ़ी आज़मी
संगीत: मदन मोहन


हुन हुन हुन हुन हुन हुन
होके मज्बुर मुझे उसने भुलय होगा - (२)
जहर चुप्के से दवा जन्के खय होग
होके मज्बुर मुझे उसने भुलय होग
होके मज्बुर मुझे

दिल ने ऐसे भी कुछ अफ्सने सुनये होङे - (२)
अश्क आन्खोन ने पिये और ना बहये होङे
बन्द कम्रे मे जो खत मेरे जलये होङे
एक एक हर्फ जबिन पर उभर आय होग
होके मज्बुर मुझे उसने भुलय होग
होके मज्बुर मुझे

उसने घब्रके नजर लख बचयी होगी - (२)
दिल की लुतती हुयी दुनीय नजर आयी होगी
मेज से जब मेरी तस्विर हतयी होगी - (२)
हरी 
हर तरफ मुझ्को -२, तदप्त हुवा पय होग
होके मज्बुर मुझे उसने भुलय होग
होके मज्बुर मुझे

छेद की बत पे अर्मन मचल आये होङे - (२)
घम दिखवे की हन्सी मे उबल आये होङे
नम पर मेरे जब आन्सु निकल आये होङे - (२)
सर ना कन्धे से -२, सहेली के उथय होग
होके मज्बुर मुझे उसने भुलय होग
होके मज्बुर मुझे

जुल्फ जिद कर्के किसी ने जो बनयी होगी - (२)
और भी घम की घता मुख्दे पे छयी होगी
बिजली नजरो ने कै दिन ना गिरयी होगी
रङ चेह्रे पे कै रोज ना आय होग
होके मज्बुर मुझे उसने भुलय होग
जहर चुप्के से दवा जन्के खय होग
होके मज्बुर मुझे