जगत भर की रोशनी के लिए ... सूरज रे तू जलाते रहना

हिंदी फ़िल्में > हरिश्चंद्र तारामती के गाने > जगत भर की रोशनी के लिए ... सूरज रे तू जलाते रहना

गाना: जगत भर की रोशनी के लिए ... सूरज रे तू जलाते रहना
फिल्म: हरिश्चंद्र तारामती
गायक: हेमंत कुमार
गीत:
संगीत:


जगत भर की रोशनी के लिए 
करोड़ों की ज़िन्दगी के लिए 
सूरज रे जलाते रहना 
सूरज रे जलाते रहना 

जगत कल्याण की खातिर तू जन्मा है 
तू जग के वास्ते हर दुह्ख उठा रे 
भले ही अंग तेरा भस्म हो जाए 
तू जल जल के यहाँ किरणें लुटा रे 

लिखा है ये ही तेरे भाग में 
की तेरा जीवन रहे आग में 
सूरज रे 

करोड़ों लोग पृथ्वी के भटकते हैं 
करोड़ों आंगनों में है अँधेरा 
अरे जब तक ना हो घर घर में उजियाला 
समझ ले अधूरा काम है तेरा 

जगत उद्धार में अभी देर है 
अभी तो दुनिया मैं अंधेर है 
सूरज रे