साड्डा हक

हिंदी फ़िल्में > रॉकस्टार के गाने > साड्डा हक

गाना: साड्डा हक
फिल्म: रॉकस्टार
गायक: मोहित चौहान
गीत: इरशाद कामिल
संगीत: ए. आर. रहमान


तुम लोगों की इस दुनिया में हर कदम पे इंसान गलत 
मैं सही समाज के जो भी कहूं तुम कहते हो गलत 
मैं गलत हूँ फिर कौन सही फिर कौन सही 
मर्ज़ी से जीने की भी मैं 
क्या तुम सबको मैं अर्जी दूं 
मतलब की तुम सबका मुझपे 
मुझसे भी जादा हक है 
साड्डा हक  एथे रख 

साड्डा हक  एथे रख - ८ 
ना ना ना .. 
साड्डा हक  एथे रख - ४ 
हे इन् गदारों में या उधारों में 
तुम मेरे जीने की आदत का क्यूँ गोट रहे दम 
बेसलीका मैं उस गली का मैं 
ना जिस में हया ना जिस में शर्म 
मण बोले के रस में जीने का हर्जाना दुनिया दुश्मन 
सब बेगाना इन्हें आग लगाना 
मण बोले मण बोले मण से जीना या मरर जाना 

साड्डा हक  एथे रख - ८ 
ना ना ना ..

ओ एको - फ्रेंडली नेचर के रक्षक मैं भी हूँ नतुरे 
रिवाजों से समाझों से क्यों 
तू काटे मुझे क्यूँ बांटे मुझसे इस तराह 
क्यूँ सच का सबक सिखाये जब सच सुन्न भी ना पाए 
सच कोई बोले तोह तू नियम कानून बताये 
तेरा डर तेरा प्यार तेरी वाह तू ही रख रख साला 
साड्डा हक एथे रख - ४ 
साड्डा हक एथे रख 
साड्डा हक एथे रख - ८