मै अगर कहूं

हिंदी फ़िल्में > ओम शांति ओम के गाने > मै अगर कहूं

गाना: मै अगर कहूं
फिल्म: ओम शांति ओम
गायक: श्रेया घोशाल, सोनू निगम
गीत: जावेद अख्तर
संगीत: विशाल शेखर


तुमको पाया है, तो जैसे खोया हूँ
कहना चाहू भी तो तुमसे क्या कहूँ
तुमको पाया है, तो जैसे खोया हूँ
कहना चाहू भी तो तुमसे क्या कहूँ
किसी जबा में भी, वोह लब्ज ही नही
की जिन में तुम हो क्या तुम्हे बता सकूं
में अगर कहूं तुमसा हसीं
कायनात में नही है कही
तारीफ यह भी तो, सच है कुछ भी नहीं
तुमको पाया है, तो जैसे खोया हूँ

शोकिओं में डूबी यह आदायें, चहरे से ज़ल्की हुई है
जुल्फ़ की घनी घनी घटाएं, शान से ढलकी हुई हैं
लहराता आँचल है जैसे बादल, बाहों में भरी है जैसे चॉंदनी
रूप की चॉंदनी
में अगर कहूं यह दिल कशी
है नहीं कहीं, न होगी कभी
तारीफ यह भी तो, सच है कुछ भी नहीं
तुमको पाया है, तो जैसे खोया हूँ

तुम हुवे मेहरबान, तो है यह दास्ताँ
ओह तुम हुवे मेहरबान, तोह है यह दास्ताँ
अब तुम्हारा मेरा एक है कारवा, तुम जहाँ में वहां
में अगर कहूं हमसफ़र मेरी
अप्सरा हो तुम, या कोई परी
तारीफ यह भी तो, सच है कुछ भी नहीं
तुमको पाया है, तो जैसे खोया हूँ
कहना चाहू भी तो तुमसे क्या कहूँ
किसी जबा में भी, वोह लब्ज ही नही
की जिन में तुम हो क्या तुम्हे बता सकूं
में अगर कहूं तुमसा हसीं
कायनात में नही है कहीं
तारीफ यह भी तो, सच है कुछ भी नहीं