फलक तक चल साथ मेरे

हिंदी फ़िल्में > टशन के गाने > फलक तक चल साथ मेरे

गाना: फलक तक चल साथ मेरे
फिल्म: टशन
गायक: उदित नारायण, महालक्ष्मी इय्येर
गीत: कौसर मुनीर
संगीत: विशाल-शेखर


फलक तक चल साथ मेरे, फलक तक चल साथ चल - (२)
यह बादल की चादर, यह तारो के आँचल छुप जाए हम पल दो पल
फलक तक चल साथ मेरे, फलक तक चल साथ चल - (२)

देखो कहा आ गए हम सनम साथ चलते
जहा दिन की बाहों में रातों  के साए है ढलते
चल वोह चौबारे ढूंढे, जिनमें चाहत की बुँदे
सच कर दे सपनो को सभी
हो आँखों को निचे निचे, मैं तेरे पीछे पीछे
चल दू जो तू कह दे अभी
बहारो के छत हो, दुवाओ के हाथ हो, बढ़ाते रहे यह घझाल हो
फलक तक चल साथ मेरे, फलक तक चल साथ चल - (२)

देखा नहीं मैंने पहले कभी यह नजारा
बदला हुवा सा लगे मुझको आलम यह सारा
सूरज को हुयी हरारत, रातों को करे शरारत
बैठा है खिड़की पे तेरी
हा इस बात पे चाँद भी बिगाड़ा, कतरा कतार वोह पिघला
भर आया वोह आँखों में मेरी
तोह सूरज बुझा दू, तुझे मैं सजा दू, सबेरा हो तुझसे ही कल होऊ
फलक तक चल साथ मेरे, फलक तक चल साथ चल - (२)
यह बादल की चादर, यह तारो के आँचल छुप जाए हम पल दो पल
फलक तक चल साथ मेरे, फलक तक चल साथ चल..........