ऐ मेरे मेहरबान

हिंदी फ़िल्में > साजन(१९६९) के गाने > ऐ मेरे मेहरबान

गाना: ऐ मेरे मेहरबान
फिल्म: साजन(१९६९)
गायक: लता मंगेशकर
गीत:
संगीत: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल


ऐ मेरे मेहरबान, ऐ मेरे हमनशीं - (2)
खुबसूरत हसीं कोई तुझसा नही 
आते हैं नजर ऐसे चहरे मगर, कभी कभी कहीं कहीं 
ऐ मेरे मेहरबान, ऐ मेरे हमनशीं 
खुबसूरत हसीं कोई तुझसा नही 
आते हैं नजर ऐसे चहरे मगर, कभी कभी कहीं कहीं 
ऐ मेरे मेहरबान, ऐ मेरे हमनशीं 

फूलों को बहार जैसे प्यार करती है, जैसे प्यार करती है 
दिल को तेरी याद बेकरार करती है, बेकरार करती है 
होता है असर - 2 प्यार में यह मगर 
कभी कभी कहीं कहीं 
ऐ मेरे मेहरबान, ऐ मेरे हमनशीं 

लायी तेरे नाम मैं पयाम आँखों का, मैं पयाम आँखों का 
कर ले तू कुबूल यह सलाम आँखों का, यह सलाम आँखों का 
मिलती है नजर -2 दिलबरों से मगर 
कभी कभी कहीं कहीं 
ऐ मेरे मेहरबान, ऐ मेरे हमनशीं 
खुबसूरत हसीं कोई तुझसा नही 
आते हैं नजर ऐसे चहरे मगर, कभी कभी कहीं कहीं 
ऐ मेरे मेहरबान, ऐ मेरे हमनशीं 
ओ ओ ओ ओ ओ ........