आवारा

हिंदी फ़िल्में > सात खून माफ के गाने > आवारा

गाना: आवारा
फिल्म: सात खून माफ
गायक: मास्टर सलीम
गीत: गुलज़ार
संगीत: विशाल भारद्वाज


आवारा, आवारा, आवारा, आवारा - 2
हवा पे रखे सूखे पत्ते, आवारा 
पाव ज़मीन पे लगते ही उड़ लेते हैं दोबारा 
आवारा, आवारा, आवारा
ना शोख जुड़े ना जड़ पकडे 
ना शोख जुड़े ना जड़ पकडे 
मौसम मौसम बंजारा 
आवारा, आवारा, आवारा

झोंका झोंका ये हवा
झोंका झोंका ये हवा, रोज़ उडाये रे 
जाके दार गयी वो तो बीत गया
जाकी माती गयी वाका मीत गया
कोई न बुलाये रे 
रुत रंग लिए आई भी गयी 
मुथियन न खुली बेरंग रही 
सूखा पत्ता बंजारा 
आवारा, आवारा, आवारा

हौले हौले ये हवा 
हौले हौले ये हवा, खेल खिलाये रे 
खोले धुप कभी, खोले छाव कभी 
कभी पंख बने , बने पाव कभी 
धुल दिखाए रे 
कोई थाह न मिली ना हवा ना ज़मीन 
ना उम्मीद उगी ना दिलासा कहीं 
उड़ता जाये बेचारा 
आवारा, आवारा, आवारा