मेरे बूढ़े सुनो जरा

हिंदी फ़िल्में > भूतनाथ के गाने > मेरे बूढ़े सुनो जरा

गाना: मेरे बूढ़े सुनो जरा
फिल्म: भूतनाथ
गायक: अमिताभ बच्चन, अरमान मालिक
गीत:
संगीत: विशाल-शेखर


(मेरे बूढ़े सुनो जरा, चलो करे कुछ मजा
थोड़ी शरारत कुछ शैतानी, काम कोई गड़बड़ का) - (२)
हे नोबडी डज इट बेटर नो नो नो नो नो
हे नोबडी डज इट बेटर आह आह आह
हे नोबडी डज इट बेटर नो नो नो नो नो
हे नोबडी डज इट बेटर तिकड़ा तकड़ा तिकड़ा तकड़ दम


तुम हो मेरे साथ में, तोह हर पल दिन में रात में
है जादू मेरी हाथ में, कहो है ना
मेरा दिल चाहे जब ऐसा, कभी ऐसा कभी वैसा
करू में बात बात में, कहो है ना
जो भी चाहो चलो कहो, वोह क्या है की जो ना हो
तुम हसो खुश रहो, तुम जो चाहोगे होगा
मेरे बूढ़े सुनो जरा, चलो करे कुछ मजा
थोड़ी शरारत कुछ शैतानी, काम कोई गड़बड़ का
हे नोबडी डज इट बेटर नो नो नो नो नो
हे नोबडी डज इट बेटर आह आह आह

हे नोबडी डज इट बेटर नो नो नो नो नो
हे नोबडी डज इट बेटर
ना रो जी के ना रो मर के, ख़ुशी पाई थी जी भर के
जो तुमसे दोस्ती करके ख़ुशी पाई
बहुत ही तेज बच्चे हो, मगर तुम दिल के अच्छे हो
है सच तोह यह की सच्चे हो, मेरे भाई
मुझको है यही कहना, संग मेरे सदा रहना
सुनो वादा यह है ना, में जो चाहूँगा होगा
मेरे बूढ़े सुनो जरा, चलो करे कुछ मजा
थोड़ी शरारत कुछ शैतानी, काम कोई गड़बड़ का
हे नोबडी डज इट बेटर नो नो नो नो नो - (१०)