कैसा लगता है अच्छा लगता है...

हिंदी फ़िल्में > बाघी - ए रेबेल फॉर लव के गाने > कैसा लगता है अच्छा लगता है...

गाना: कैसा लगता है अच्छा लगता है...
फिल्म: बाघी - ए रेबेल फॉर लव
गायक: अमित कुमार, अनुराधा पौडवाल
गीत: समीर
संगीत: आनंद-मिलिंद


कैसा लगता है, अच्छा लगता है
प्यार का सपना सच्चा लगता है
तू जो करीब है मेरा नसीब है
दिल में बसी है तू मेरी ख़ुशी है तू
तेरे बिना इक पल मुझे ना रहना
कैसा लगता है...

हर तरफ खुशियों का मौसम है यहाँ, हमने पहली बार देखा यह जहा
घूम की दुनिया से हम चले आये, दूर है हमसे दर्द के साये
आ हुवा मांग ले कुछ भी हो अब्ब दुःख पड़े ना सहना
कैसा लगता है...

प्यार के वादे कभी ना तोडना, तुम कभी तनहा ना हमको छोड़ना
आंसुओ को हम पि ना पाएंगे, हम जुदा होके जी ना पाएंगे
आ कसम खा के हम मानेंगे हमेशा इक दूजे का कहना
कैसा लगता है...

मांग तेरी सजा दू मै आजा बिंदिया लगा दू मै
लाल चुनरी ओढा दू मै दुल्हन बना दू मै
हाथो से तेरा सिंगर करू,बहो में भर के प्यार करू
रूप मै संवर दू आजा पहना दू तुझे फूलो का गहना
कैसा लगता है.............

जो लोग कहते हैं कहने दो सनम, हम ना तोड़ेंगे कभी अपनी कसम
साथ हो जिसके हमसफ़र ऐसा, फिर ज़माने का डर उसे कैसा
है यही आरजू सुख दुःख तेरे संग हमें है सहना
कैसा लगता है...